एटीएम से पैसे निकालने की सीमा 2024: जानें एटीएम का लिमिट

सभी सामान्य बैंक अकाउंट में कितनी भी राशि जमा और निकासी की जा सकती है, लेकिन एटीएम से मनचाही राशि नहीं निकाली जा सकती। एटीएम कार्ड की निकासी राशि सीमित होती है, जिसे बैंक अपने सुविधा अनुसार निर्धारित करते हैं। 2024 में विभिन्न बैंकों के एटीएम से पैसे निकालने की सीमा और उनसे जुड़ी अन्य जानकारी को जानना बेहद महत्वपूर्ण है ताकि आप सही समय पर सही निर्णय ले सकें।

बैंक शाखाओं से पैसे निकालने की सीमाएं भी सेट की जा रही हैं, जिससे ग्राहकों के पैसों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके और बैंक के कैश मैनेजमेंट में सहूलियत हो। उदाहरण के लिए, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की शाखाओं से 30,000 रुपये से नीचे निकासी नहीं की जा सकती है। एटीएम से एक बार में कितनी राशि निकाली जा सकती है और एक महीने में कितनी बार निकासी की जा सकती है, यह जानकारी जानना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

हम इस ब्लॉग पोस्ट में व्याख्या करेंगे कि एटीएम से एक बार में कितना पैसा निकाला जा सकता है, एक दिन में कितनी बार एटीएम से पैसा निकाला जा सकता है, और इस सीमा को बढ़ाने के तरीके। साथ ही, हम जानेंगे कि क्यों बैंकों ने एटीएम से पैसा निकालने की सीमा को रखा है और कैसे यह सीमा बढ़ाई जा सकती है। इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से, हम आपको एटीएम से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे ताकि आप अपने वित्तीय लेन-देन को बेहतर तरीके से प्रबंधित कर सकें। आइए, शुरू करते हैं!

एटीएम से कितना पैसा निकाला जा सकता है?

RBI (रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया) के नवीनतम नियमों के अनुसार, जिन्हें 1 जनवरी 2022 से लागू किया गया है, अब बैंकों के उपयोगकर्ता प्रति माह पांच बार एटीएम से नकदी निकाल सकते हैं। यह सीमा वित्तीय और गैर-वित्तीय सेवाओं, जैसे कि बैलेंस जांच और मिनी स्टेटमेंट, को भी शामिल करती है।

उपयोगकर्ताओं को अगर मुफ्त मासिक सीमा से अधिक निकासी की जाती है, तो वे बैंक नकद और गैर-नकद एटीएम लेनदेन पर प्रत्येक लेनदेन के लिए अतिरिक्त ₹21 देना होगा।

सभी बैंकों के लिए नकद निकासी की अधिकतम सीमा भारत भर में अलग-अलग होती है। कुछ बैंकों की दैनिक सीमा 10,000 से शुरू होती है, जबकि प्राइम ग्राहकों के लिए यह सीमा 50,000 तक हो सकती है।

ATM से एक बार में कितना पैसा निकाला जा सकता है?

अलग-अलग बैंकों द्वारा ग्राहकों को अलग-अलग लिमिट में ATM से पैसे निकलने की सुविधा प्रदान की जाती है। आमतौर पर, एटीएम से एक बार में 10 हजार रुपए तक ही निकाले जा सकते हैं। हालांकि, भारतीय स्टेट बैंक अपने ग्राहकों के लिए सात प्रकार के ATM कार्ड प्रदान करता है, जिनमें प्रत्येक कार्ड की अलग-अलग लिमिट होती है। इनमें से क्लासिक एंड माइस्त्रो डेबिट कार्ड के लिए एटीएम से एक दिन में 20 हजार रुपए तक की निकासी की जा सकती है, जबकि प्लेटिनम इंटरनेशनल डेबिट कार्ड के लिए यह सीमा 1 लाख रुपए है। ध्यान देने वाली बात है कि एटीएम से पैसा निकालने की यह सीमा समय के साथ बदल सकती है।

इसे भी पढ़े:  कोटक महिंद्रा बैंक डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करें: 2024 गाइड

उदहारण के लिए:

SBI एटीएम कार्डएक दिन में पैसा निकालने की सीमा
SBI क्लासिक एंड माइस्त्रो डेबिट कार्ड20,000 रुपये
SBI ग्लोबल इंटरनेशनल डेबिट कार्ड40,000 रुपये
SBI मुंबई मेट्रो कॉम्बो कार्ड40,000 रुपये
SBI इन टच टैप एंड गो डेबिट कार्ड40,000 रुपये
SBI माई कार्ड इंटरनेशनल डेबिट कार्ड40,000 रुपये
SBI गोल्ड इंटरनेशनल डेबिट कार्ड50,000 रुपये
SBI प्लेटिनम इंटरनेशनल डेबिट कार्ड1,00,000 रुपये

बैंक एटीएम से एक महीने में कितना बार पैसे निकाले जा सकते हैं।

आपके बैंक एटीएम से एक महीने में अधिकतम पांच बार पैसे निकाले जा सकते हैं। यह सीमा आमतौर पर शहर के आकार और बैंक के नियमों पर निर्भर करती है। कुछ बैंक तो इस सीमा को तीन बार तक ही सीमित करते हैं।

विभिन्न बैंकों में एटीएम से पैसे निकालने के लिए सीमा सेट करने की सुविधा भी होती है। SBI और ICICI जैसे बैंक दो प्रकार की सेवाएं प्रदान करते हैं: नेट बैंकिंग या कस्टमर केयर के माध्यम से आप सीमा को सेट कर सकते हैं। इसके अलावा, कुछ बैंकों में आपको पैसे निकालने की सीमा सेट करने के लिए कस्टमर केयर से संपर्क करना पड़ सकता है।

बैंकों द्वारा नकद निकासी की सीमा निर्धारित करने के कारण

बैंक कई कारणों से निकासी की सीमा तय करते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. सुरक्षा: निकासी सीमा धोखाधड़ी और चोरी से बचाने में मदद करती है। यदि आपके कार्ड चोरी हो जाता है और चोर को आपके पिन का पता चल जाता है, तो भी वे सीमा से अधिक नकदी नहीं निकाल पाएंगे। यह आपके खाते में जमा अधिक धन को सुरक्षित रखने में मदद करता है।
  2. नकदी प्रबंधन: बैंकों को एटीएम में पर्याप्त नकदी बनाए रखने की आवश्यकता होती है। निकासी सीमा तय करके, वे यह अनुमान लगा सकते हैं कि ग्राहकों को कितनी नकदी की आवश्यकता होगी और यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि उनके पास पर्याप्त नकदी हो। इससे एटीएम में नकदी खत्म होने की संभावना कम हो जाती है।
  3. ग्राहक व्यवहार: कुछ बैंक कम निकासी सीमा वाले खातों पर कम शुल्क लेते हैं। यदि आप कम निकासी करते हैं, तो आप कम शुल्क वाला खाता चुन सकते हैं।
  4. अन्य कारक: कुछ बैंकों में खाते के प्रकार, खाते में जमा राशि और ग्राहक के जोखिम प्रोफाइल के आधार पर निकासी सीमा भिन्न हो सकती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि निकासी सीमा केवल एटीएम से निकासी पर लागू होती है। आप बैंक शाखा से या ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से अधिक धन निकाल सकते हैं। यदि आपको अपनी निकासी सीमा बढ़ाने की आवश्यकता है, तो आप अपने बैंक से संपर्क कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े:  दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक एटीएम कार्ड: ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

अपनी एटीएम निकासी सीमा को बढ़ाएं

आप कभी किसी एटीएम के सामने खड़े रहे होंगे और यह महसूस किया होगा कि आपकी दैनिक निकासी सीमा पर्याप्त नहीं है। चिंता न करें, ऐसी स्थिति में एटीएम निकासी सीमा को बढ़ाने के कई तरीके हैं। इससे आप एक बार में अधिक नकदी निकाल पाएंगे। आइए विभिन्न तरीकों को देखें जिनसे आप अपनी एटीएम निकासी सीमा को आसानी से बढ़ा सकते हैं:

अपनी एटीएम निकासी सीमा बढ़ाने के तरीके:

बैंक से सीधे संपर्क करें:

  • यह सबसे आम और विश्वसनीय तरीका है। आप अपने बैंक से फोन पर, ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से या अपने निकटतम बैंक शाखा में जाकर संपर्क कर सकते हैं।
  • आपको अपनी पहचान और खाते की जानकारी प्रदान करनी होगी। बैंककर्मी आपकी जानकारी की समीक्षा करेंगे और तय करेंगे कि आपकी सीमा को कितना बढ़ाया जा सकता है।

ऑनलाइन बैंकिंग का उपयोग करें:

  • कई बैंक आपको उनके ऑनलाइन बैंकिंग पोर्टल के माध्यम से सीधे अपनी एटीएम निकासी सीमा को संशोधित करने की सुविधा देते हैं। लॉग इन करें, “सेटिंग्स” या “खाता प्रबंधन” अनुभाग पर जाएं, और फिर “निकासी सीमा” विकल्प ढूंढें। अपनी वांछित नई सीमा दर्ज करें और परिवर्तनों को सहेजें। यह आसान और सुविधाजनक तरीका है।

मोबाइल बैंकिंग ऐप का लाभ उठाएं:

  • आजकल अधिकांश बैंकों के अपने मोबाइल बैंकिंग ऐप होते हैं। यदि आपका बैंक भी यह सुविधा प्रदान करता है, तो आप ऐप खोलकर “खाता प्रबंधन” या “सेटिंग्स” अनुभाग में जा सकते हैं। वहां आपको “निकासी सीमा” को बदलने का विकल्प मिल सकता है। अपनी वांछित नई सीमा दर्ज करें और परिवर्तनों को सहेजें।

कुछ बैंकों में एटीएम का उपयोग करें:

  • कुछ बैंक सीधे एटीएम मशीन के माध्यम से भी निकासी सीमा बढ़ाने की सुविधा देते हैं। अपना कार्ड डालें, पिन दर्ज करें, और फिर “सेटिंग्स” या “सेवाएं” विकल्प चुनें। वहां आपको “निकासी सीमा” को बदलने का विकल्प मिल सकता है। अपनी वांछित नई सीमा दर्ज करें और परिवर्तनों को लागू करें।

एटीएम नकद निकासी के लिए नियम और विनियम

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा निर्धारित नवीनतम एटीएम नकद निकासी नियमों और विनियमों से अवगत रहना महत्वपूर्ण है। ये नियम बैंकों और ग्राहकों दोनों पर लागू होते हैं और एटीएम से लेनदेन करते समय आपके अनुभव को प्रभावित कर सकते हैं।

यहां कुछ महत्वपूर्ण अपडेट दिए गए हैं:

1. एटीएम लेनदेन शुल्क:

  • जब आप अपनी बैंक की एटीएम निकासी सीमा से अधिक नकदी निकालते हैं, तो आपको प्रति लेनदेन ₹21 का शुल्क देना होगा। यह शुल्क गैर-बैंक एटीएम से नकदी निकालने पर भी लागू होता है, जिसमें शुल्क ₹50 तक बढ़ सकता है।
  • यह शुल्क आरबीआई द्वारा वित्तीय संस्थानों पर लागू लागत और बढ़े हुए इंटरचेंज शुल्क को पूरा करने के लिए लगाया गया है।

2. मुफ्त एटीएम लेनदेन:

  • अधिकांश बैंक अपने ग्राहकों को हर महीने पांच मुफ्त एटीएम लेनदेन (नकद निकासी और गैर-नकद लेनदेन दोनों सहित) प्रदान करते हैं।
  • मुफ्त लेनदेन की सीमा बैंक और खाते के प्रकार के आधार पर भिन्न हो सकती है।
  • मुफ्त लेनदेन समाप्त होने के बाद, आपको प्रत्येक लेनदेन के लिए शुल्क देना होगा।
इसे भी पढ़े:  2024 में ऑनलाइन मोबाइल से एटीएम पिन कैसे बनाएं: आसान और सुरक्षित तरीका

3. अन्य महत्वपूर्ण बिंदु:

  • निकासी सीमा: प्रत्येक बैंक की अपनी दैनिक, साप्ताहिक और मासिक निकासी सीमा होती है। अपनी सीमा से अधिक नकदी निकालने पर आपको अतिरिक्त शुल्क देना होगा।
  • नकद जमा सीमा: कुछ बैंकों में एटीएम में नकद जमा करने की सीमा भी होती है।
  • चेक बुक शुल्क: यदि आप एटीएम से चेक बुक का अनुरोध करते हैं, तो आपको शुल्क देना होगा।
  • सुरक्षा: एटीएम का उपयोग करते समय हमेशा अपने पिन को गुप्त रखें और किसी भी संदिग्ध गतिविधि की रिपोर्ट करें।

एटीएम शुल्क से बचने के 5 आसान तरीके

एटीएम शुल्क एक आम बात हो गई है। हर बार जब आप एटीएम का उपयोग करते हैं, तो आपसे लेनदेन शुल्क, नकद निकासी शुल्क, और यहां तक ​​कि बैलेंस इंजुअरी शुल्क भी लिया जा सकता है। ये शुल्क जल्दी से बढ़ सकते हैं, खासकर यदि आप अक्सर एटीएम का उपयोग करते हैं।

लेकिन चिंता न करें! एटीएम शुल्क से बचने के कई तरीके हैं। यहां 5 आसान युक्तियां दी गई हैं:

1. अपने बैंक की मुफ्त निकासी सीमा का लाभ उठाएं:

अधिकांश बैंक आपको हर महीने एक निश्चित संख्या में मुफ्त एटीएम लेनदेन प्रदान करते हैं। अपनी बैंक की वेबसाइट या मोबाइल ऐप पर जाकर अपनी मुफ्त निकासी सीमा की जांच करें। अपनी सीमा के अंदर रहकर, आप लेनदेन शुल्क से बच सकते हैं।

2. अपने बैंक के एटीएम का उपयोग करें:

जब आप अपने बैंक के एटीएम का उपयोग करते हैं, तो आपको आमतौर पर गैर-बैंक एटीएम से नकद निकालने की तुलना में कम या कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है।

3. डेबिट कार्ड का उपयोग करके खरीदारी करें:

कई दुकानें और ऑनलाइन स्टोर अब डेबिट कार्ड स्वीकार करते हैं। जब आप खरीदारी करने के लिए अपने डेबिट कार्ड का उपयोग करते हैं, तो आपको एटीएम से नकदी निकालने की आवश्यकता नहीं होती है और आप लेनदेन शुल्क से बच सकते हैं।

4. ऑनलाइन बैंकिंग और बिल भुगतान का उपयोग करें:

अपने बिलों का भुगतान ऑनलाइन करने के लिए अपनी बैंक की ऑनलाइन बैंकिंग या मोबाइल ऐप का उपयोग करें। इससे आपको एटीएम जाने और लेनदेन शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होगी।

5. कम एटीएम शुल्क वाले बैंक खाते पर विचार करें:

कुछ बैंक कम एटीएम शुल्क या कोई शुल्क नहीं वाले खाते प्रदान करते हैं। यदि आप अक्सर एटीएम का उपयोग करते हैं, तो ऐसे खाते में स्विच करने पर विचार करें।

अतिरिक्त सुझाव:

  • अपने एटीएम लेनदेन पर नज़र रखें: अपने बैंक स्टेटमेंट या मोबाइल ऐप का उपयोग करके अपने एटीएम लेनदेन पर नज़र रखें। इससे आपको यह पहचानने में मदद मिलेगी कि आप किन लेनदेन के लिए शुल्क दे रहे हैं और आप उन्हें कैसे कम कर सकते हैं।
  • एटीएम शुल्क के बारे में पूछें: यदि आप किसी शुल्क के बारे में अनिश्चित हैं, तो अपने बैंक से पूछें। वे आपको शुल्क के बारे में अधिक जानकारी प्रदान करने में सक्षम होंगे और आपको इससे बचने के तरीके बता सकते हैं।

इन युक्तियों का पालन करके, आप एटीएम शुल्क को कम कर सकते हैं और अपनी मेहनत की कमाई को बचा सकते हैं।

निष्कर्ष

एटीएम से पैसे निकालने की सीमाएं ग्राहकों की सुरक्षा और बैंक के कैश मैनेजमेंट को आसान बनाने के लिए होती हैं। विभिन्न बैंकों की सीमाएं अलग-अलग होती हैं, इसलिए अपने बैंक की सीमा को जानना महत्वपूर्ण है। यदि आप अपने एटीएम की निकासी सीमा बढ़ाना चाहते हैं, तो अपने बैंक से संपर्क कर सकते हैं। BankingWap पर, हम आपकी बैंकिंग से जुड़ी हर जानकारी प्रदान करने के लिए यहाँ हैं।

मैं भारती कुमार, BankingWap पर आपका बैंकिंग गुरु! मुझे बैंकिंग की दुनिया को आपकी उंगलियों पर लाने में खुशी होती है! जटिल बैंकिंग विषयों को आसान बनाना मेरा जुनून है। चाहे आप अपना बैंक स्टेटमेंट डाउनलोड कर रहे हों, सही बैंकिंग सेवा चुन रहे हों, या अपने कार्ड का सुरक्षित रूप से उपयोग करना सीख रहे हों, मैं आपका साथ दूंगा। BankingWap पर मेरे लेखों के साथ, आप एक स informed बैंक ग्राहक बन सकते हैं। तो आइए, बैंकिंग की पेचीदगियों को सुलझाएं और अपनी वित्तीय यात्रा को आसान बनाएं!

Leave a Comment